इंटरनेट क्या है ? What is internet in hindi

इंटरनेट क्या है ? What is internet in hindi

Hello  दोस्तों studysector में आपका स्वागत हैं इंटरनेट क्या है? दोस्तों आज हम जानेगे इंटरनेट का उपयोग, इंटरनेट का महत्व, History of internet in hindi और internet ki khoj kisne kiya इन सब की पूरी जानकारी  वो सरल और आसान भाषा में.

इंटरनेट internet एक मायाजाल हैं, आप सोच रहें होंगे की हम internet को मायाजाल क्यों बोल रहें वो इसलिए क्योकि Internet दुनिया का सबसे बड़ा और व्यस्तम नेटवर्क है. Internet को हिंदी में ‘अंतरजाल‘ कहते है. अगर सीधे शब्दों में कहे तो दुनिया के कम्प्युटरों का आपस में जुड़ना ही Internet है.

लेकिन आपने कभी सोचा है की Internet Ka Aviskar Kisne Kiya, आपको शायद ये भी पता नहीं होगा की हमारे देश Bharat Me Internet Kab Shuru Hua Tha इसलिए आज हमारी हिंदी सहायता की टीम आपको Internet Ki Duniya से परिचित कराएगी और Internet Ki Jankari देगी, जो आपको और कही नहीं मिलेगी.

आज के समय में बिजली, पानी, खाने के बिना इंसान रह सकता हैं किंतु वो internet के बगेर नही रह सकता हैं. वेसे आप सोच रहने होंगे की ये कोई कहने वाली बात जी हाँ हम ये बिलकुल सच कह रहें हैं और हमारी बात को आज की नोजवान पीढ़ी अच्छे से समझ सकती हैं क्योकि internet का उपयोग वो ही सबसे ज्यादा करती हैं.

खेर हमारा मकसद यहाँ पर ये जाना हैं की जिस internet का उपयोग हम इतना करते हैं उसको है क्या internet की full form क्या हैं, इस internet का अविष्कार किसने किया.

तो चलिए शुरू करते हैं-

INTERNET क्या हैं?

Internet एक दुसरे से जुड़े कई कंप्यूटरों का जाल है जो राउटर एवं सर्वर के माध्यम से दुनिया के किसी भी कंप्यूटर को आपस में जोड़ता है. सरल भाषा में कहे तो सूचनाओ के आदान प्रदान करने के लिए TCP/IP Protocol के माध्यम से दो कंप्यूटरों के बीच स्थापित सम्बन्ध को Internet कहा जाता हैं, Internet विश्व का सबसे बड़ा नेटवर्क है.internet-kya-hai

ये असल में बहुत बड़ा जाल होता हैं. इन्टरनेट एक इंग्लिश शब्द है जो इंग्लिश के ही एक और शब्द “Internetworked” से लिया गया है. टरनेट से जुडे जुए प्रत्येक कम्प्युटर की एक अलग पहचान होती हैं. इस विशेष पहचान (Unique Identity) को IP Address कहा जाता हैं. IP Address गणितिय संख्याओं का एक Unique Set होता हैं (जैसे 103.195.185.222) जो उस कम्प्युटर की लोकेशन को बताता हैं.

IP Address को Domain Name Server यानि DNS द्वारा एक नाम दिया जाता हैं जो उस IP Address को Represent करता हैं.

internet का full form क्या हैं?

internet का full form “Internetworked होता हैं. जो असल में एक बहुत बड़ा नेटवर्क होता हैं सभी web सर्वर webworld का. इसलिए इसे बहुत से जगहों में वर्ल्डवाइड web या simply the web भी कहा जाता हैं.

इसमें पूरी दुनिया भर में private और public school और college, रिसर्च सेंटर, हॉस्पिटल और अन्य web के साथ साथ बहुत सारे सर्वर शामिल होते हैं.

internet एक कलेक्शन होता हैं इंटरकनेक्टड नेटवर्क का i.e नेटवर्क of नेटवर्क का ये बना हुआ होता हैं बहुत से नेटवर्क से आप एक वक्त में कनेक्ट कर सकते हैं वो भी पूरी दुनियाभर से.

Internet की खोज किसने की

internet का अविष्कार करना किसी एक इंसान की बात नही थी. इसमें बहुत सारे साइंटिस्ट और इंजीनियर की मदद से इसको पूरा करने की कोशिश की गयी थी.

सन 1957 में coldwar के समय, अमेरिका ने एडवांस research project एजेंसी की स्थापना की गयी थी. जिसका उद्येश्य एक ऐसी टेक्नोलॉजी का निर्माण करना था, जिससे एक computer को दुसरे computer के साथ जोड़ा जा सके.

सन 1969 में इस एजेंसी ने ARPANET की स्थापना की. जिससे की किसी भी computer को किसी भी computer के साथ जोड़ा जा सकता हैं.

आपकी जानकरी के लिए बता की सन 1980 तक आते आते इसका नाम internet हो गया. Vinton Cerf और Robert Kahn ने tcp/IP प्रोटोकोल को इन्वेंट किया था.

Internet कब शुरू हुआ?

internet की शुरुआत 1 जनवरी 1983 में हुई थी. इसमें ARPANET ने TCP/IP अडॉप्ट किया था. इस समय इसे NETWORK of NETWORK कहा जाता था पर अब इसको आज के समय के अनुसार internet कहा जाता हैं.

भारत में internet कब शुरू हुआ?

अब आप सोच रहे होंगे की आखिर हमारे देश Bharat Me Internet Kab Aaya तो हम बताते है की Bharat Me Internet Kab Shuru Hua Tha.

भारत में Internet की बात करें तो यहाँ Internet की शुरुआत 15 August सन 1995 में की गयी थी| भारत में 1995 से पहले Internet कही भी नही था, भारत में Internet की शुरुआत “VSNL” (Videsh Sanchar Nigam Limited) ने की थी।

इसके बाद से ही भारत में कई सारी बड़ी कंपनियों ने बाज़ार में अपना नाम बनाया और कई सारी कंपनियों ने अपनी शुरुआत की, इसके बाद से भारत में भी Internet का विस्तार बढता चला गया और आज हमारा देश भारत Internet इस्तेमाल करने में पूरी दुनिया में दूसरे नंबर पर है.

History Of Internet In Hindi

Internet Ki Khoj Kab Hui अगर ये बात करे तो इंटरनेट की शुरुआत 60 के दशक में लगभग 1962 से 1969 के बीच में हुई थी इसको सबसे पहले US Department Of Defense ने बनाया था। दुनिया के सबसे पहले Internet का नाम ARPANET (Advanced Research Project Agency Network) था।

Arpanet का इस्तेमाल सबसे पहले 1969 में University Of California में एक संदेश भेजने के लिए किया गया था। उसके बाद Internet में धीरे-धीरे कई बदलाव आते गए और यह आम लोगो के लिए भी उपलब्ध हो गया|

सन 1980 में ही बिल गेट्स का आईबीएम (IBM) कंपनी के कंप्यूटर्स पर एक माइक्रोसॉफ्ट ऑपरेटिंग सिस्टम लगाने के लिए सौदा हुआ और Internet का सही से इस्तेमाल करने के लिए 1984 में एप्पल (Apple) कंपनी ने पहली बार फाइलों और फ़ोल्डरों, ड्रॉप डाउन मेनू, माउस, ग्राफिक्स का प्रयोग आदि से युक्त आधुनिक सफल कम्प्यूटर लांच किया।

और Internet का सबसे ज्यादा इस्तेमाल तब होने लगा था जब 1989 में टिम बेर्नर ली ने Internet पर संचार को सरल बनाने के लिए ब्राउज़रों, लिंक का उपयोग कर के वर्ल्ड वाइड वेब (WWW) बनाया और 1998 में गूगल के आने के बाद इंटरनेट का चेहरा ही बदल गया जिससे आज हम सब जानते हैं.

Internet Ki Paribhasha

जब दो या दो से अधिक कंप्यूटर सूचनाओं का आदान प्रदान करने के लिए एक-दूसरे से कनेक्ट होते है तो एक जाल बनता है उसी जाल को Internet का नाम दिया गया है। हम अपने कंप्यूटर्स में सूचनाओं या दस्तावेज़ों का आदान प्रदान Internet के कारण ही कर पाते है.

Internet के उपयोग

अपने शुरूआत के दिनों में इंटरनेट का उपयोग वैज्ञानिकों द्वारा एक दूसरे को रिसर्च पेपर तथा अन्य सूचनाए आदान प्रदान  करने तक सीमित था. लेकिन धीरे- धीरे Internet का विकास होता गया और इसमें नई-नई तकनीक को जोडा गया. जिसका वर्तमान स्वरूप हम आज देखते है. आधुनिक Internet हमारी जीवनशैली का हिस्सा हो गया है. हमारे रोजमर्रा के लगभग सारे कार्य Internet के माध्यम से घर बैठकर किये जाने लगे है.

अपने शुरूआत में Internet सिर्फ सूचनाओं के साझा करने तक सीमित था. लेकिन, वर्तमान Internet अपने पैर लगभग हर क्षेत्र में फैला चुका है. चिकित्सा से लेकर दैनिक उपयोग के सामान की खरीदी तक. आइए जानते है Internet के कुछ प्रमुख क्षेत्र जहाँ Internet का उपयोग किया जाता है.

  1. संप्रेषण के लिए

Internet का सबसे ज्यादातर उपयोग हम आपस  से सम्पर्क स्थापित करने के लिए करते है. Internet के द्वारा हम कभी भी और कहीं भी शीघ्रता से अपने चाहने वालो को संदेशा भेज एवं प्राप्त कर सकते है.

  1. खोजने के लिए

internet का आविष्कार ही इसलिए किया गया था क्योकि आज से पहले कभी भी किसी भी प्रकार की  सूचनाए प्राप्त करना आसान नही था. लेकिन आज हम Internet के माध्यम से दुनिया के किसी भी कोने से जानकारीयाँ प्राप्त कर सकते है और वो भी कुछ ही पलों में.

  1. मनोरंजन के लिए

Internet का उपयोग मनोरंजन के साधन के रूप में किया जाता है. मनोरंजन के क्षेत्र मे विकल्प असीमित है. इसके माध्यम से हम फिल्में, गाने, विडियों आदि को देख तथा सुन सकते है. पढने के शौकिन अपने मनपसंद लेखक को पढ‌ सकते है.

  1. शिक्षा के क्षेत्र में

इसे E-learning (ई-शिक्षा) कहते है. यह क्षेत्र तेजी से बढ रहा है. आज इंटरनेट के माध्यम से हम घर बैठे ही अपने लिए मनपसंद कॉलेज, स्कूल चुन सकते है. इसके अलावा हमारे पसंद के कोर्स किस कॉलेज में उपलब्ध है और उस कोर्स के बारे में सारी जानकारी और कोर्स की फीस, कोर्स का समयावधि आदि, यह जानकारी हम अपने computer पर प्राप्त कर कर सकते है.

Internet के फायदे

internet के फायदे बहुत से होते हैं जिनमे हमने इसके उपयोगो का वर्णन भी किया था अब हम इसके फायदों के बारे में जानेगे.

तो चलिए शुरू करते है-

इलेक्ट्रोनिक लिंक आदान प्रदान करने के लिए

आज के समय में पुरे देश में से 89 प्रतिशत लोग internet का इस्तेमाल कर रहें हैं. जिसमे से बहुत से लोग एक सप्ताह में करीब 20 मिलियन से भी ज्यादा E-Mail करते हैं.

Research करने के लिए

internet एक बहुत ही बड़ा source है जिसमे document, बुक्स आदि का इस्तेमाल करके लोग reserch करते हैं.

फाइल डाउनलोड और अपलोड कर सकते हैं

internet एक ऐसा माध्यम है जिसके माध्यम से आप कोई विडियो ऑडियो अन्य फाइल internet के माध्यम से डाउनलोड और अपलोड कर सकते हैं.

डेटिंग चैटिंग करने के लिए

यदि आप online दोस्त बनाना पसंद करते हैं तो आप internet के माध्यम से social-media का उपयोग करके करके आप डेटिंग चेटिंग कर सकते हैं.

News के लिए

आज के समय में लोग अखबार पर समय बर्बाद करना पसंद नही करते हैं . इसलिए internet पर ही कई लोग news जल्दी मे  पढना पसंद करते हैं. internet का उपयोग लोग online news पढने और देखने के लिए भी करते हैं.

Internet Ke Nuksan

जिस प्रकार Internet Ke Fayde है ठीक उसी प्रकार Internet Ke Nuksan भी है

  • Internet के जरिये हमारे कंप्यूटर और मोबाइल में Viruses और Malware आते है.
  • Internet पर कोई भी व्यक्ति कुछ भी शेयर कर सकता है लेकिन कुछ लोग इस बात का गलत फायदा भी उठाते है. झूठी खबरों के इतनी तेजी से फैलने का कारण भी Internet ही है.
  • Internet का इस्तेमाल हमारा समय तो बचाता है लेकिन कभी कभी इसकी लत लगने के कारण यह कई गुना ज्यादा हमारा समय भी बर्बाद कर देता है.

हाँ तो दोस्तों आपको हमारी आज की पोस्ट कैसी लगी आज हमने आपको बताया की Internet Kya Hai In Hindi और Internet Ka Aviskar Kisne Kiya, Internet Ke Nuksan

और इसी के साथ आज आपने Internet Ke Fayde और Internet Ke Nuksan भी जाने, उम्मीद है आपको समझ आया होगा और पसंद भी आया होगा, क्योंकि आज हमने सरल भाषा में आपको सही और Update जानकारी बताई है, जो आपके लिए उपयोगी है

इस article से सम्बन्धित आपको कोई भी प्रश्न हो तो निचे comment box में comment करके बता सकते हैं और कोई भी सुझाव हो तो वो भी आप comment करके बता सकते हैं.

इस article में अंत तक बने रहने के लिए आपका धन्यवाद.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here