Jio Full Form in Hindi – जिओ की फुल फॉर्म क्या हैं?

Jio Full Form in Hindi – जिओ की फुल फॉर्म क्या हैं?

JIO: Joint Implementation Opportunities

JIO related questions: Jio Full Form in Hindi, Jio Ka Full Form Kya Hai, Jio का Full-Form क्या है, Jio Ka Poora Naam Kya Hai, जिओ क्या है?

Jio का पूरा नाम और हिंदी में क्या अर्थ होता है, ऐसे सभी सवालों के जबाब आपको इस Post में मिल जायेंगे.

JIO Full Form in Hindi JIO का full name क्या है?

Jio की फुल फॉर्म “Joint Implementation Opportunities” होती है. इसको हिंदी में “संयुक्त कार्यान्वयन अवसर” कहते है.

दोस्तों आप में से बहुत से ऐसे लोग है जो की jio का इस्तेमाल करते है भले ही चाहे वो jio सिम हो या फिर jio नेट या फिर jio T.V ही क्यों न हो  ऐसे बहुत से लोग होते है जो ये सब उसे तो करते है किन्तु उनको ये पता नही होता है की आखिर jio की full form क्या हैं, jio को hindi में क्या कहते है उन्हें ये सब नही पता होता है.

तो दोस्तों जैसे की हमने आपको यहाँ पर बताया की jio का पूरा नाम Joint Implementation Opportunities होता है, और jio के आने से पहले भारत में सभी टेलीकॉम सेक्टर ऑपरेटर जैसे की Airtel, Idea, Vodafone आदि कनेक्शन मार्किट में उपलब्ध थे जिनके की इंटरनेट के प्लान्स इतने महंगे होते थे की कोई आम इन्सान तो बड़े प्लान अफोर्ड ही नही कर सकता था, लेकिन jio के आने के बाद लोगो की ये समस्या सुलझी और लोगो को सस्ते दामो में  internet की सुविधा उपलब्ध होने लगी.JIO-FULL-FORM-INHINDI

अब आप जान ही गये होंगे कि Jio Full Form क्या होता है परंतु आपको में बतादूँ की Jio की Full Form नही है जी हाँ, Jio की कोई भी Full Form नही है क्योकि कुछ ऐसे भी वर्ड्स होते है जिन का कोई मतलब नही नकलता परंतु कुछ लोग किसी भी वर्ड का Meaning निकाल देते है इसी तरह ही Jio का Full Form भी निकल रखा है.

जिओ का इतिहास / History of Jio in Hindi

High speed का यह सफर तब शुरू हुआ जब साल 2005 में Reliance industries का बंटवारा किया गया. जिसके कारण company के सारे कारोबार 2 हिस्सों में बंट गए.

उस समय दोनों भाइयों ने एक agreement sign किया जिसके मुताबिक दोनो भी एक दूसरे के sector से जुड़े किसी भी व्यापार में निवेश नहीं करेंगे. इस agreement के बाद मुकेश अंबानी का telecom sector में आने का सपना कई सालों तक अधूरा रह गया.

साल 2010 में जैसे ही यह agreement खत्म हुआ तो मानो मुकेश अंबानी का सपना फिर से जिंदा हो गया और December 27, साल 2015 को jio लॉन्च करके उन्होंने अपना सपना पूरा करते हुए पूरे भारतवर्ष को एक बेहतरीन तोहफा दिया।

आज हर किसी की ज़ुबान पर सिर्फ jio ही है और इसे जनता ने दिल खोल कर अपनाया भी है.

उत्पाद  और सेवायें

रिलायंस जियो 4जी ब्रॉडबैंड

कंपनी रिलायंस जियो की 4जी सेवा के बारे में, 12 जून 2015 को RIL की 41वीं वार्षिक सामान्य मीटिंग में ये निर्धारित किया गया था की  jio सिम डेटा और वॉइस सेवा के साथ अतिरिक्त सेवाएं जैसे इंस्टेंट मैसेजिंग, Live T.V, Movies ऑन डिमांड,News, म्यूज़िक स्ट्रीमिंग, और डिजिटल पेमेंट प्लेटफार्म भी उपलब्ध कराएगी.

पैन-इंडिया स्पेक्ट्रम

Jio के पास भारत के 22 सर्कल्स में से 800 MHz और 1,800 MHz बैंड के 10 और 6 सर्कल्स में स्पेक्ट्रम स्वामित्व है, साथ ही इसके पास 2,300 MHz का पैन इंडिया लाइसेंस भी है। सन् 2035 तक स्पेक्ट्रम वैध है.

LYF स्मार्टफोन्स

जून 2015 में जियो ने घरेलू हैंडसेट निर्माता इंटेक्स के साथ 4जी हैंडसेट सप्लाई करने का सौदा किया. इसके द्वारा इसकी योजना फाइबर नेटवर्क हाई-स्पीड इन्टरनेट सर्विस तथा वायरलेस 4जी सर्विस के अलावा 4जी वॉइस कॉलिंग भी प्रदान करने की है. अक्टूबर 2015 में jio ने LYF नाम का मोबाइल हेंडसेट निकला था.

दोस्तों उम्मीद है कि यह Jio ka full form का आर्टिकल आपको पसंद आया होगा और इसके जरिये  Jio Kya Hai इसके बारे में और उनसे जुड़ी आपको काफी जानकारियां मिल गयी होंगी। दोस्तों हम आशा करते हैं कि यह आर्टिकल आपको पसंद आएगा. अगर आपको हमारा ये article पसंद आया है तो इसे अपने दोस्तों के साथ share करना ना भूले.

अगर आप हमे किसी भी प्रकार की feedback देना चाहते है तो आप हमे निचे comment box में comment करके दे सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here